निजी क्षेत्र के संस्थानों में 75 प्रतिशत जॉब स्थानीय युवाओं को : मुख्‍यमंत्री सोरेन

by admin on Thu, 01/27/2022 - 10:45

मुख्यमंत्री  हेमन्त सोरेन ने दुमका में आयोजित 73 वें गणतंत्र दिवस समारोह में झंडोत्तोलन किया और परेड का निरीक्षण तथा सलामी ली। इस अवसर पर प्रदेश के राज्‍यपाल रमेश बैस ने रांची के मोराबादी मैदान में झंडोतोलन किया।

मुख्यमंत्री हेमन्‍त सोरेन ने इस अवसर पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पंडित जवाहरलाल नेहरू, बिरसा मुंडा सहित झारखंड और देश भर के प्रमुख स्‍वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धा सुमन अर्पित की। उन्होंने सुरक्षा बलों के जवानों और राज्यवासियों को गणतंत्र दिवस की बधाई और शुभकामनाएं दी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि संविधान के प्रावधानो के अनुरूप राज्य के सर्वांगीण विकास और लोगों का अधिकतम कल्याण सुनिश्चित करने की दिशा में सरकार तेजी से काम कर रही है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा विकास का आधार है। ऐसे में शिक्षा के प्रति हमारी सरकार सजग और संवेदनशील है। इस सिलसिले में राज्यभर में 80 उत्कृष्ट विद्यालय, 325 प्रखंड स्तरीय लीडर स्कूल  और 4091 ग्राम पंचायत स्तरीय आदर्श विद्यालय को विकसित किया जा रहा है ।उन्होंने कहा कि पिछले 2 वर्षों से कोविड-19 महामारी की वजह से विद्यालयों को बंद रखने के लिए बाध्य होना पड़ा है।  इस घड़ी में विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन शिक्षा की व्यवस्था डीजे -साथ कार्यक्रम के तहत की गई है। वहीं, दूरदर्शन एवं अकाशवाणी के माध्यम से भी पठन-पाठन का कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है ।ऑनलाइन शिक्षा को और सुगम और कारगर बनाने की आवश्यकता पर मुख्यमंत्री ने जोर दिया मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार द्वारा जारी किए गए शैक्षणिक सूचकांक में झारखंड को 29 अंकों का फायदा हुआ है , जो पूरे देश में सर्वाधिक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मातृभाषा आधारित बहुभाषी शिक्षण व्यवस्था के लिए सामग्रियों को विकसित किया जा रहा है। इसके लिए  250 विद्यालयों को विशेष रुप से चिन्हित कर वहां प्रायोगिक तौर पर मातृभाषा आधारित शिक्षण व्यवस्था लागू करने की योजना बनाई गई है । इस योजना के परिणाम का आकलन कर अन्य विद्यालयों में भी व्यवस्था को लागू किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लंबे अर्से से सेल लंबित रिक्त पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया को गति प्रदान करने के लिए विभिन्न नियुक्ति नियमावली और परीक्षा संचालन नियमावली का गठन और संशोधन  की कार्रवाई की गई है । राज्य के युवाओं को सरकारी नौकरी में ज्यादा से ज्यादा अवसर मिले, इसके लिए सरकार प्रतिबद्ध है।मुख्यमंत्री ने बताया कि सेवा शर्त नियमावली के गठन और संशोधन के उपरांत अब तक 4142 रिक्त पदों पर नियुक्ति के लिए अधियाचना कर्मचारी चयन आयोग को भेज दी गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के अंतर्गत निजी क्षेत्र में स्थापित कारखानों ,उद्योगों , संयुक्त उद्यमों और पीपीपी के तहत संचालित परियोजनाओं में होने वाली नियुक्तियों में 75 प्रतिशत आरक्षण स्थानीय युवाओं के लिए करने हेतु झारखंड राज्य के निजी क्षेत्र में स्थानीय उम्मीदवारों का नियोजन अधिनियम- 2021 लागू किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि हमारी अर्थव्यवस्था की नींव है । राज्य में फसल उत्पादन एवं उत्पादकता को बढ़ाने और उन्नत कृषि प्रौद्योगिकी को प्रदर्शित करने के लिए 61 करोड़ रुपए की लागत से समेकित बिरसा ग्राम विकास योजना सह कृषक पाठशाला योजना लागू की गई है ।मुख्यमंत्री ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2021 22 में धान अधिप्राप्ति पिछले वर्ष 15 दिसंबर से शुरू कर दी गई है । किसानों से अधिप्राप्त धान के 50 प्रतिशत मूल्य का भुगतान तुरंत किया जा रहा है। इसके अलावा केंद्र सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य के अतिरिक्त राज्य सरकार द्वारा किसानों को 110 रुपए प्रति क्विंटल की दर से बोनस भी दिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण, कल्याण और उनके सम्मानजनक आजीविका के लिए सरकार ने फ़ूलो झानो आशीर्वाद योजना शुरू की है। इस योजना के तहत  महिलाओं को आजीविका सशक्तिकरण के लिए 10 हज़ार रुपए ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है ।अब तक 14 हज़ार से अधिक महिलाओं को हड़िया दारु निर्माण एवं बिक्री कार्य से मुक्त कराकर आजीविका के अन्य साधनों से जोड़ा जा चुका है । 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के 1 लाख 80 हज़ार सखी मण्डलों को 32 सौ करोड़  की राशि क्रेडिट लिंकेज के रूप में बैंक से उपलब्ध कराई जा चुकी है । सखी मंडलों द्वारा निर्मित उत्पादों को पलाश ब्रांड के जरिए बाजार उपलब्ध कराया जा रहा है । सरकार की इस पहल से 2 लाख ग्रामीण महिलाओं को लाभ हो रहा है। राज्य में अब तक 159 पलाश मार्ट स्थापित किए जा चुके हैं और इस वित्तीय वर्ष में लगभग 17 करोड़ रुपए का टर्नओवर प्राप्त कर लिया गया है।
 

Sections
SEO Title
75 percent jobs in private sector institutions to local youth: Chief Minister Soren